Header Ads

Smart Parenting 10 Tips In Hindi | 10 स्मार्ट पेरेटिंग टिप्स इन हिंदी

Smart Parenting Tips In Hindi | 10 स्मार्ट पेरेटिंग टिप्स:

10 smart parenting Tips in hindi,parenting tips for smart genration,smart genration ke liye smart parenting tips,baby smart parenting tips



स्मार्ट पेरेंट्स कैसे बने :

Smart Parents बनने के लिए सबसे पहले हमें  बच्चों को समझना होगा। बच्चे बहुत ही प्यारे और मासूम होते है। बच्चों के लिए अमीरी - गरीबी, ऊंच -नीच ,जात-पात ,अमीरी- गरीबी का कोई मोल नहीं है ।उनके लिए  पूरी दुनिया होते हैं उनके माता-पिता। वास्तव में  एक बच्चें का आना ही   हमारे अंदर माता -पिता बनने का एहसास जागृत करता है। हमारे अंदर एक जिम्मेदारी का एहसास कराता है।
  माता पिता बनने के बाद हमारी पूरी दुनिया तो जैसे हमारे बच्चों से शुरू होती है और उन्हीं पर खत्म होती है। हम अपने बच्चों को पूरी दुनिया की खुशी देना चाहते हैं ।हर माँ बाप अपने बच्चों को लिए जितना बेस्ट हो सकता है उतना करते  ही हैं , ताकि उनके बच्चें जिदंगी में आगे बढ़े और हमेशा खुश रहे।

आजकल समय और हालात दोनों ही बड़ी तेजी से बदलते जा रहे हैं । पहले के समय में एक माता पिता के लिए अपने बच्चों को अच्छी परवरिश देना आसान था,क्योकि पहले के लोग आज के मुकाबले कम व्यस्त रहते थे। पहले  ज्यादातर लोग संयुक्त परिवार(Joint Family) में रहा करते थे ,जिससे घर के  बड़े जैसे दादा-दादी, नाना-नानी सभी बच्चों को मिलकर अच्छे संस्कार देते थे, उन्हें अच्छी बातें सिखाते थे। लेकिन आज  हालात बहुत बदल चुके हैं ।आज के माता -पिता ज्यादा व्यस्त रहने लगे हैं ,परिवार सिमटते जा रहे हैं।ऐसे में  बच्चों में अच्छे संस्कार डालना, अच्छी आदतें सिखाना और उन्हें अच्छा इंसान बनाना ,ये सब आज के युग में माता पिता के सामने एक चुनौती बनकर उभर रही है।

परिस्थिति चाहे जो भी हो लेकिन अगर हम Parents की जगह एक smart parents बनकर अपना रोल निभाएगें तो यह सब काम हमारे लिए बहुत आसान हो जाएगा।एक smart parent अपना रोल बच्चे  के पैदा होते ही निभाना शुरू कर देता  है। बच्चों के बड़े होने के साथ साथ उनका रोल भी  धीरे-धीरे बढ़ने लगता है। तो आइए दोस्तो! जानते है कुछ smart parenting tips जो हमें smart Parents बनाने में उपयोगी हो सकती  है।



10 smart parenting Tips in hindi,parenting tips for smart genration,smart genration ke liye smart parenting tips,baby smart parenting tips


1) बच्चों की सुनें:

बच्चें जब बोलना शुरु करते है तब उनकी तोतली भाषा भले और कोई समझे या ना समझे  लेकिन उनकी अपनी मां जरूर समझ जाती है। हमें अपने बच्चों को समझने की यही आदत हमेशा आगे भी बरकरार रखनी है।जब बच्चे धीरे धीरे बड़े होने लगते है तभी हमें अपने व्यस्त समय में से रोजाना कुछ समय बस उनकी बातें सुनने के लिए जरूर निकालना चाहिए।

2) बच्चों को appreciate करें :

बच्चें भले  कितनी ही शरारतें क्यों ना करते हो लेकिन रोजाना तो कुछ न कुछ ऐसा भी जरूर करते होगें जिससे की उन्हें तारीफ मिले ,उनकी पीठ थपथपाई जाए। एक smart Parent के नाते हमें ऐसी बातों को जानकर उन्हें appreciate करना चाहिए।

3) गुस्सें से नही बल्कि प्यार से सिखाएं:

बच्चों से जब भी कोई गलती हो जाए या फिर वो आपको कहना नहीं माने तब उन्हें गुस्सा करने और डांटने की बजाय प्यार से समझाए। प्यार की भाषा बच्चे जल्दी समझते है।रोजाना डाँटते रहने पर धीरे- धीरे वो आपको अनसुना करना शुरु कर देगें।

4) बच्चों की help लें:

बचपन से ही बच्चों को छोटे- छोटे काम सिखाएँ, उनकी कुछ हल्के- फुल्के कामों में मदद ले। उन्हें अपने खिलौने ,अपनी किताबें और अपने सभी चीजें को सलीके से रखना बताएँ और  इस काम में  शुरु में आप उनकी मदद लें ताकि  आप के साथ मिलकर करते करते एक दिन वे ये सब खुद अकेले ही करना सीख जाएगें

5) बच्चों के दोस्त बन कर रहे:

बच्चें अपने दोस्तों के साथ बहुत free होते है,उनसे अपने मन की हर बात शेयर करना पसंद करते है। अपने माता -पिता से बच्चे हर बात शेयर करने से झिझकतें है।इसीलिए अगर हम उनके माता पिता के बजाय उनके दोस्त बनकर रहेंगे तो वे अपने मन की हर बात हमसे भी शेयर करेंगे और हमारे सुझावों को सुनेंगे और मानेंगे।

10 smart parenting Tips in hindi,parenting tips for smart genration,smart genration ke liye smart parenting tips,baby smart parenting tips

6) बडें और बुर्जगो का सम्मान:

बचपन से ही हमें अपने बच्चों को सभी बड़ो और बुर्जुगो का सम्मान करना सिखाना चाहिए,उनका आदर करना सिखाना चाहिए। जरूरतमंदो की मदत करना  सिखाना चाहिए।बचपन से सिखाई हुई इन बातों को बच्चें कभी नही भूलगें और बड़े होने पर भी इन बातों का पालन करते रहेगें।

7) अच्छे बुरे का फर्क:

अच्छी बातें क्या होती है और उसके क्या फायदे होते हैं और बुरी बातें क्या होती है और उसके क्या नुकसान होते हैं ये सभी बातें भी हमें बच्चों को बचपन से ही सिखाना चाहिए ।इससे हमारे बच्चे अच्छी और बुरी बातों के बीच के अंतर को जल्दी ही समझ जाएंगें।

8) बच्चों पर विश्वास करना सिखें:

एक माता-पिता के लिए उनके बच्चे हमेशा छोटे ही रहते है।इसी कारण वे अपने बच्चों को कोई भी जिम्मेदारी भरा कार्य देने से डरते है ।उन्हें लगता है बच्चें अभी छोटे है नही कर पाएगे। लेकिन वास्तव में ऐसा नही होता। जब तक हम अपने बच्चों पर विश्वास नही करेगें उन्हें कोई जिम्मेदारी भरा कार्य नही सौपेगें तब तक उनमें भी बड़े होने का एहसास नही आएगा।

9) माता- पिता है बच्चों के रोल -मॉडल:

बच्चों की पहली शिक्षा घर से ही शुरु होती है । बच्चे अपने माता -पिता तथा अपने सभी बड़ों की हर आदतों को बड़े ध्यान से देखते और सुनते हैं और उसे कॉपी करने की कोशिश करते हैं ।इसीलिए माता -पिता तथा घर के हर बड़ों को, बच्चों के सामने सभ्य व्यवहार करना चाहिए।

10) अपनी महात्वाकांक्षा बच्चों पर ना थोपे:

हर बच्चे की काबिलियत अलग होती है ,उनकी प्रतिभा अलग होती है ।जरूरी नहीं है कि हम जो बनना या करना चाहते थे ,हमारे बच्चे भी वही पसंद करेंगे। हम उन्हें जिस फिल्ड में उनकी रुचि है उसी के अनुसार उनकी आगे बढ़ने में मदद करना चाहिए।

3 comments:

  1. Brother comment me "anyone" set kare taki koi user aapki blog oar comments kar sake

    ReplyDelete
  2. Aur aapki theme mobile me basic version me view ho rahi hai use off kijiye jisse aapki original temple me mobile view ho,

    ReplyDelete
  3. Thank you For commenting and giving Suggestions. Keep them coming.

    ReplyDelete